चीया सीड्स क्यों चर्चा में है,जानिए। Chia seeds in hindi meaning

Chia seeds in hindi meaning

Chia seeds in hindi meaning

चीया सीड्स विश्व भर में लोगो के द्वारा उपयोग किया जाने वाला ऊर्जा का एक प्राचीन स्त्रोत है। इस पोस्ट में आप हम आपको chia seeds in hindi meaning के बारे में हिंदी में पढ़ेंगे और इसके द्वारा हमारे स्वास्थ्य पर होने वाले आश्चर्यजनक असर के बारे में जानेंगे। यह पोषक तत्वों का भंडार है। जिसमे कार्बोहाइड्रेट, प्रोटीन, विटामिन C, विटामिन E, कैल्शियम, मैग्नीशियम, मैग्नीज, फॉस्फोरस, पोटैशियम, आयरन, जिंक इत्यादि पोषक तत्व आदि मौजूद होते है। जो कि हमारे शरीर और मस्तिष्क के लिए बेहद लाभकारी होते हैं। चीया सीड्स छोटे छोटे काले दाने जैसे होते है जो कि साल्विया हिस्पैनिका नाम के पौधे से प्राप्त होते है। वैसे तो चीया सीड्स बहुत लंबे समय में उपयोग में लायी जाती है लेकिन पिछले कुछ सालों से वे लोग, जो कि हेल्थ कॉन्शियस है वे इसका ज्यादा उपयोग कर रहे है।

chia seed hindi name,chia seeds means in hindi चीया सीड्स का हिंदी नाम

 वैसे आप यह भी जानने के उत्सुक होने की चिया बीज के लिए भारतीय नाम क्या है ? तो वास्तविकता यह है कि चीया सीड्स का हिंदी नाम भी चीया सीड्स या चीया बीज ही है।

चीया सीड्स खाने के फायदे क्या है ?Chia seeds benefits in hindi


चीया सीड्स के बारे में जानने के बाद अब बात करते है चिया सीड्स के फायदे की chia seeds benefits in hindi. इसके कई सारे आश्चर्यजनक फायदे देखने को मिलते है जिस वजह से इसकी महत्ता और बढ़ जाती है। चीया सीड्स एक प्राकृतिक औषधी है तो चलिए देखते है कि chia seeds benefits क्या क्या है –

1. Chia seeds for weight loss – वजन कम करने में यह महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। इसमे पाए जाने वाले सॉल्युबल फाइबर्स पानी की अधिक मात्रा को खुद में संचित करे हुए होते है जिसे वे खाये जाने पर हमारे पेट मे मुक्त कर देते है। जिस वजह से हमे पेट के भरे होने का एहसास होता है और यह खाने के अवशोषण को भी कम करता है। इस प्रकार चीया सीड्स को अपनी डाइट में शामिल करके आप न सिर्फ वज़न घटाने का लाभ ले सकते हैं, बल्कि अपने शरीर को हेल्दी भी बना सकते हैं।


2. Chia seeds हृदय से सम्बन्धित बीमारियों से भी बचाव करने में सहायक होते हैं। चूंकि इसमें प्रचुर मात्रा में ओमेगा 3 फैटी एसिड, प्रोटीन और फाइबर पाया जाता है, जो कि हृदय के लिए फायदेमंद होते हैं। यह ब्लड प्रेशर को नियंत्रित रखता है और कोलेस्ट्रॉल लेवल को संतुलित रखने का काम करता है।


3. यह हमारे शरीर के ब्लड शुगर के लेवल को संतुलित रखने का कार्य भी करता है। यदि आपको टाइप 2 डायबिटीज है, तो यह आगे चलकर और भी गंभीर रूप धारण कर सकता है। अगर आप प्रतिदिन  चीया सीड्स का सेवन करते हैं, तो शरीर में इंसुलिन की सेंसिविटी को बढ़ाता है। ब्लड शुगर लगातार बढ़े रहने से हृदय संबंधी बीमारियों का भी खतरा बना रहता है।


4. शरीर में होने वाले रैशेस, सूजन, जलन एवं प्रदाह इत्यादि समस्याओं के निदान में भी चीया सीड्स मददगार साबित होता है। ये स्किन प्रॉब्लम किसी इंफेक्शन या चोट की वजह से होते हैं। अगर सही समय पर ध्यान न दिया जाए तो यह समस्या आगे चलकर खतरनाक हो सकती है।


5. चीया सीड्स omega 3 फैटी एसिड और न्यूरो प्रोटेक्टिव एन्टीओक्सिडेंट से परिपूर्ण होती है जो मस्तिष्क में स्वस्थ कोशिकाओं का निर्माण करती है। यह स्वस्थ कोशिकाएं हमारे मस्तिष्क में पोषक तत्वों की पर्याप्त आदान प्रदान करती है और साथ ही नर्व सिस्टम की प्रक्रिया को तीव्र करती है। जिसकी वजह से हमारे मस्तिष्क की कार्यप्रणाली और एकाग्रता में वृद्धि होती है।


6. वर्तमान समय में बदलती जीवनशैली में प्रत्येक व्यक्ति इतना अधिक व्यस्त हो चुका है कि उसकी दिनचर्या पूरी तरह से डगमगा गयी है। घर के खाने की जगह आजकल बाहर के खाने जैसे फ़ास्ट फूड्स,जंक फूड्स,तेलीय खाद्य पदार्थों को प्राथमिकता दी जा रही है जिसका दुष्प्रभाव हमारे स्वास्थ्य पर पड़ रहा है। इस दुष्प्रभाव को कम करने के लिए भी हम प्राकृतिक उपायों के बदले केमिकल युक्त दवाइयों का सेवन कर रहे है जो कि किसी न किसी तरह से हमारे शरीर को नुकसान पहुंचा रहे है। चीया सीड्स में ऐसे पोषक तत्व पाये जाते हैं जो कि हमारे शरीर को ऊर्जा प्रदान करते है। माया सभ्यता के अनुसार चीया शब्द का तात्पर्य “शक्ति” से है। प्राचीन समय से ही ऊर्जा की अधिक मात्रा प्राप्त करने के लिए चिया सीड्स का सेवन किया जाता था। मैक्सिकन Tarahumara प्रजाति के धावक भी लम्बे दौड़ से पूर्व चिया सीड्स को अन्य सामग्रियों के साथ मिलाकर जूस बनाकर पीते थे और ऐसा कहा जाता हैं कि वे इस जूस को पी कर 100 मील से भी ज्यादा दूर तक सफर करते थे।


7. चीया सीड्स का प्रयोग केक की बेकिंग के लिए अंडे के विकल्प के तौर पर किया जा सकता है। चीया सीड्स के पाउडर (पिसा हुआ चिया सीड्स) को कुछ देर के लिए पानी में भिगो दिया जाए तो यह जैल बन जाता है और इस जेल को केक में अंडे के स्थान पर उपयोग में लाया जा सकता है। किसी बाउल में 1 चम्मच पिसा हुआ चीया सीड्स और 3 चम्मच पानी डालकर अच्छी तरह हिला दें अब इस मिश्रण को 5-10 मिनट के लिए भीगने दें। अब जो जेल तैयार होगा वह 1अंडे के बेहतरीन विकल्प के रूप में प्रयोग किया जा सकता है। अगर आपको ज़्यादा अंडे का विकल्प चाहिए तो उपरोक्त सामग्री की मात्रा बढ़ा लें।


8. हर कोई अपनी उम्र से कम दिखना चाहता है हम अपने बढ़ती उम्र को रोक तो सकते नही किंतु हेल्दी फूड्स के द्वारा खुद को स्वस्थ और healthy जरूर रख सकते हैं। Chia seeds में भरपूर मात्रा में एन्टी ओक्सिडेंट पाये जाते हैं जो कि हमारे स्किन को रोज के धूल धुँए इत्यादि से होने वाले स्किन प्रॉब्लम से सुरक्षित रखते है।


9. आजकल बच्चे और बड़ों सभी मे आमतौर पर गलत खानपान की वजह से जोड़ो में दर्द होने लगता है जिसका प्रमुख कारण भोजन में कैल्शियम की कमी का होना होता है। chia सीड्स में भरपूर मात्रा में कैल्शियम पाया जाता है, अगर हम इसे अपने रेगुलर डाइट में शामिल करें तो इससे हमारे शरीर को पर्याप्त मात्रा में कैल्शियम प्राप्त होगा तथा हम हड्डियों के जोड़ो से सम्बंधित विभिन्न बीमारियों से खुद को सुरक्षित रख पाएंगे ।


10. पिछले कुछ सालों से कैंसर एक ऐसी जटिल बीमारी बनी हुई है जो कि लाइलाज है। chia seeds में पाए जाने वाले गुणों की वजह से यह सर्वाइकल और स्तन कैंसर से बचाव करने में सहायक होता है। 2013 में मॉलिक्यूलर बायोकेमिस्ट्री पर हुए एक अध्ययन के अनुसार चिया बीज में अल्फा लिपोइक एसिड पर्याप्त मात्रा में मौजूद होता है जो कि इन कैंसर कोशिकाओं की वृद्धि को सीमित करने का काम करता है।यह गुण chia seeds को और अधिक महत्वपूर्ण बना देता है।


11.व्यस्त दिनचर्या की वजह से आज के समय मे लोग बमुश्किल ही समय से भोजन ले पाते है। ऐसी स्थिति में भोजन ग्रहण करने के बाद टहलना तो दूर की बात है जबकि पाचन क्रिया को सुचारू रखने के लिए भोजन के बाद कुछ कदम टहलना अत्यावश्यक होता है। इन परिस्थितियों के कारण पाचन प्रणाली को सुचारू करने के लिए चीया सीड्स का सेवन करना लाभदायक साबित हो सकता है। चीया सीड्स में प्रचुर मात्रा में फाइबर्स पाये जाते है जो कि पाचन क्रिया को संतुलित करने का काम करते है। इससे हमारे शरीर के इन्सुलिन का लेवल नियंत्रित बना रहता है।


12. Chia seeds benefits में एक फायदा यह भी है कि इसका प्रयोग केक की बेकिंग के लिए अंडे के विकल्प के तौर पर किया जा सकता है। चिया सीड्स के पाउडर (पिसा हुआ चिया सीड्स) को कुछ देर के लिए पानी में भिगो दिया जाए तो यह जैल बन जाता है और इस जेल को केक में अंडे के स्थान पर उपयोग में लाया जा सकता है। किसी बाउल में 1 चम्मच पिसा हुआ चिया सीड्स और 3 चम्मच पानी डालकर अच्छी तरह हिला दें अब इस मिश्रण को 5-10 मिनट के लिए भीगने दें। अब जो जेल तैयार होगा वह अंडे के बेहतरीन विकल्प के रूप में प्रयोग किया जा सकताहै। अगर आपको ज़्यादा अंडे का विकल्प चाहिए तो उपरोक्त सामग्री की मात्रा बढ़ा लें।

13. Chia seeds हमारे शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता में वृद्धि करने में अहम भूमिका निभाता है। इसके सेवन से शरीर में जो भी विषैले तत्त्व मौजूद होते हैं, वे बाहर निकल जाते हैं। यह शरीर के लिए एक वाशिंग पाउडर की तरह काम करता है, जो की सारे दूषित पदार्थों को बाहर करके, बॉडी को विटामिन एवं मिनरल से भर देता है।


14. चीया सीड्स आँखों से संबंधित समस्याओं में भी कारगर होता है, क्योंकि इसमें ओमेगा 3 फैटी एसिड पाया जाता है, जो कि आँखों के सूखेपन को दूर करता है, आँखों की रोशनी बढ़ाता है।


15. युवाओं में बॉडी बिल्डिंग का क्रेज़ इन दिनों सर चढ़कर बोल रहा है, इसके लिए वे विभिन्न प्रकार की डाइट अपनाते हैं, एक्सरसाइज करते हैं, जिम में कड़ी मेहनत करते हैं। इन सब के अलावा अगर आप चीया सीड्स को भी अपनी रेगुलर डाइट में शामिल कर लें तो आपको चीया सीड्स के बेनिफिट्स दिखने को मिलेंगे । एक गिलास पानी में इसके कुछ बीज भिगोकर आप ट्रेनिंग से पहले पी लें, तो आपके शरीर को हाइड्रेट रखेगा। इसमें मौजूद फाइबर बॉडी को एनर्जी प्रदान करते हैं।

चीया सीड्स को ज़्यादातर भिगोकर ही खाया जाता है, अगर आप इसे बिना भिगोये भी खाते हैं, तो किसी प्रकार का नुकसान नहीं है, लेकिन इसका अच्छी तरह लाभ हमें तभी मिल सकता है , जब इसका इस्तेमाल भिगोकर किया जाए।

चीया सीड्स खाने के नुकसान side effects of chia seeds in hindi

चीया सीड्स अगर सही तरीके से व संतुलित मात्रा में प्रयोग किया जाए तो, फायदेमंद होता है, किन्तु यदि इसका सेवन अधिक मात्रा में किया गया तो, कई प्रकार के साइड इफ़ेक्ट हो सकते हैं ,तो चलिए देखते है side effects of chia seeds in hindi

1.चीया बीज में रक्त को प्राकृतिक रूप से पतला करने की क्षमता होती है।यदि आपकी कोई सर्जरी, या किसी चोट सम्बंधित इलाज चल रही है तो आपको चीया बीज के सेवन से बचना चाहिए क्योंकि पतले रक्त की स्कन्दन क्षमता भी कम होती है जिसके कारण ज्यादा रक्त स्त्राव होने का खतरा बना रहता है।


2.यदि आपको किसी किस्म के डॉयफूड्स, नट्स, या बिज के सेवन से एलर्जी होने की शिकायत है तो हो सकता है कि आपको चीया सीड्स के सेवन से भी एलर्जी की समस्या उतपन्न हो सकती है। जिसमे त्वचा में खुजली, जलन, रैशेस, आंखों में पानी आने की समस्या या स्किन से सम्बंधित अन्य प्रकार की समस्याओं का भी सामना करना पड़ सकता है ।


3. गर्भवती महिलाओं और स्तनपान कराने वाली महिलाओं के लिए बेहतर है कि वे चीया सीड्स का सेवन न करें।


4.चीया सीड्स के सेवन करते वक्त आपको इसके नमी का ध्यान रखना जरूरी है।इसे आप बिना भिगाये या भुंज कर खाने से बचें क्योंकि इनमें पानी को सोखने की अद्भुत क्षमता होती है।यह अपने वजन से 27 गुना अधिक पानी की मात्रा को सोखने की क्षमता रखते है।इन्हें सूखा खाने पर ये हमारे ग्रास नली,मुख कोष आदि को सूखा कर सकते है जिससे हमें दम घुटने की समस्या का सामना करना पड़ सकता है।


5. चीया सीड्स के अधिक  सेवन से पेट से सम्बंधित विभिन्न प्रकार की गड़बड़ियों का सामना भी करना पड़ सकता है।जैसे- कब्ज, दस्त, पेट दर्द,पेट ऐंठना इत्यादि। यरह सारी समस्याएं आपके स्वास्थ्य पर विपरीत असर डाल सकती है।इसलिए बेहतर होगा कि आप ऐसी स्थिति आने पर अपने चिकित्सक से तत्काल सम्पर्क करें ।

how to eat chia seeds in hindi चीया सीड्स को कैसे खाएं

चीया सीड्स के फायदे और नुकसान के बारे में तो हमने जान लिया है, अब बात करते है कि चीया सीड्स को कैसे इस्तेमाल किया जाता है ? वैसे तो चीया सीड्स को ज़्यादातर भिगोकर ही खाया जाता है, अगर आप इसे बिना भिगोये भी खाते हैं, तो किसी प्रकार का नुकसान नहीं है, लेकिन इसका अच्छी तरह लाभ हमें तभी मिल सकता है , जब इसका इस्तेमाल भिगोकर किया जाए।आइये अब जानते है कि इसे खाया किस प्रकार जाए।

• आप चीया सीड्स को बिना भिगोये डायरेक्ट सूखा भी खा  सकते हैं और एनर्जी प्राप्त कर सकते हैं । इसे सुखा ही दही, ओट्स में भी डालकर खाया जा सकता है। लेकिन ध्यान रहे सूखा खाने से यह हमारे दांतों से चिपक भी सकता है। हम इसे सूखा खा तो अवश्य सकते हैं, किंतु इसके बाद भरपूर मात्रा में पानी पियें, क्योंकि इसकी तासीर होती है, ज़्यादा पानी सोखने की।
• चीया सीड्स खाने का दूसरा तरीका है, इसे भिगोकर खाना। इस तरीके से खाने से न सिर्फ ये आसानी से पचता है, बल्कि पोषक तत्व भी ज़्यादा मात्रा में मिलते हैं।
• चीया सीड्स को ग्राइंडर में पीसकर भी इसका इस्तेमाल मफिन्स, ब्रेड, पास्ता इत्यादि में किया जाता है।

How to make chia seeds juice चीया सीड्स का जूस बनाने का तरीका

पानी के साथ :- 

चीया सीड्स को पानी में भिगोना है, लेकिन एक अनुपात में, और वह अनुपात है, 1:10 । इस अनुपात में इसे पानी में आधे घण्टे से लेकर लगभग 1.30-2 घंटे तक भिगोने के बाद इस्तेमाल में लाया जा सकता है। आधा या एक चम्मच चीया सीड्स को 1 कप पानी में भिगोकर भी इस्तेमाल में ला सकते हैं। चीया सीड्स के भीगे हुए इस जूस को आप चाहें तो 4- 5 दिन तक फ्रिज में रखकर इस्तेमाल कर सकते हैं।

दूध के साथ :-
चीया सीड्स को दूध में भी डालकर पुडिंग की तरह इस्तेमाल किया जा सकता है। और इसे दूध में डालकर लाजवाब शर्बत भी तैयार किया जा सकता है।

इस तरह chia seeds in hindi के हमारे इस शीर्षक पर हमने आपको benefits of chia seeds aur side effects of chia seeds और इसके अलावा चीया सीड्स का कैसे उपयोग करें से जुड़ी हर बातो को बताने का प्रयास किया। इससे जुड़ी कोई भी अन्य सवाल हो तो आप हमें कमेंट बॉक्स में जरूर लिखें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button