Cold Intolerance in hindi : Thand ka ziada lagna ka ilaj

हाइपोथायरायड के रोगियों में ठंड असहिष्णुता की स्थिति भी देखी जा सकती है। एनीमिया रोग में शरीर में लाल रक्त कणिकाओं की कमी हो जाती है। शीत असहिष्णुता में इस बीमारी के कुछ सामान्य लक्षण भी शामिल हैं।

शीत असहिष्णुता : कुछ महीनों के बाद ठंड का मौसम शुरू होने वाला है। बदलते मौसम के साथ हर किसी का शरीर अलग तरह से प्रतिक्रिया करता है। किसी को ठंड कम लगती है तो किसी को बहुत ठंड लगती है। कई ऐसे लोग भी होते हैं जिन्हें सामान्य तापमान में भी ठंड लगती है, ऐसी स्थिति को मेडिकल भाषा में कोल्ड इनटॉलरेंस कहते हैं। डॉक्टर्स का मानना ​​है कि अगर सामान्य तापमान में भी ठंड ज्यादा लगती है तो यह कुछ बीमारियों का शुरुआती संकेत हो सकता है। इसे हल्के में नहीं लेना चाहिए। तो आइए जानते हैं कि कोल्ड इनटॉलरेंस से किन बीमारियों का संकेत हो सकता है ।

विटामिन बी 12 की कमी : विटामिन बी 12 की कमी

Cold Intolerance

शाकाहारी लोगों में विटामिन बी12 की कमी देखी जाती है। विटामिन बी 12 की कमी से गंभीर ठंड लगना, कब्ज, दस्त, थकान, भूख न लगना या सांस लेने में तकलीफ भी हो सकती है। ये सब भी विटामिन बी12 की कमी के लक्षण हैं। इसके अलावा 50 साल से अधिक उम्र के लोगों में भी विटामिन बी12 की कमी पाई जाती है।

हाइपो थायरॉइड: हाइपो थायरॉइड

अगर आपको बहुत ज्यादा ठंड लग रही है तो आपको हाइपो थायरॉइड भी हो सकता है। यह स्थिति हाइपोथायरायडिज्म के रोगियों में भी देखी जाती है। इस रोग से पीड़ित मरीजों को समय पर दवा लेनी चाहिए ताकि समस्या न बढ़े। इस बीमारी में थायरॉइड ग्रंथि पर्याप्त थायरोक्सिन हार्मोन का उत्पादन नहीं करती है। जिससे शरीर में नकारात्मक प्रभाव पड़ता है। थायराइड की समस्या को कम करने के लिए आप ले सकते हैं योग का सहारा, थायराइड के लिए बेहद आसान और फायदेमंद योग जानने के लिए इसे पढ़ें। – थायराइड के लिए सर्वश्रेष्ठ योग हिंदी में

मधुमेह

अत्यधिक ठंड लगना भी मधुमेह का संकेत है। मधुमेह गुर्दे को भी प्रभावित करता है, जिससे परिसंचरण से संबंधित समस्याएं हो सकती हैं। यही वजह है कि मरीजों को ठंड ज्यादा लगती है। खासकर घुटनों के निचले हिस्से में। इसके अलावा बार-बार पेशाब आना, थकान और आंखों का धुंधला होना भी मधुमेह के लक्षण हैं। मधुमेह रोगी। आहार से बचना चाहिए।

एनीमिया: एनीमिया

एनीमिया रोग के कुछ सामान्य लक्षणों में शीत असहिष्णुता भी शामिल है। एनीमिया रोग में लाल रक्त कणिकाओं की कमी हो जाती है, जिससे सामान्य ठंड के मौसम में भी अधिक ठंडक महसूस होती है। एनीमिया रक्त में हीमोग्लोबिन की कमी है। 

अगर आप इस लेख ( शीत असहिष्णुता ) को वीडियो के माध्यम से समझना चाहते हैं , तो नीचे दिए गए वीडियो को अंत तक जरूर देखें।

इसे भी पढ़ें-

How to कम स्ट्रेस इन हिंदी: अगर आप अपने दिमाग को रेस्ट रखना चाहते हैं, तो जानिए स्ट्रेस को कैसे काम करे?

त्वचा के लिए आलू के फायदे चेहरे पर ग्लो लाना चाहते हैं तो करें आलू का इस्तेमाल, जानिए इसके फायदे!

Leave a Reply

Back to top button