Hair fall and dandruff solution in hindi

Hair fall and dandruff solution in hindi

Hair fall and dandruff solution in hindi 

आज के समय मे यह सवाल आम हो गया है।लम्बे और खूबसूरत बाल हर किसी की ख्वाहिश होती हैं, लेकिन आजकल लोग डेंड्रफ और हेयर फॉल की समस्या से परेशान है और अगर इस पर ध्यान न दिया जाए तो यह आगे चलकर और भी बड़ी समस्या बन सकती हैं।इस पोस्ट में हम आपको “Hair fall and dandruff solution in hindi  ” के बारे में विस्तार से बताने वाले है,तो हमारे साथ बने रहिये।

डैंड्रफ हमारे बालो के स्कैल्प को प्रभावित करता है और कभी कभी इससे खुजली भी हो जाती है। कई बार डेंड्रफ की समस्या इतनी अधिक बढ़ जाती है कि सिर के स्कैल्प यानी ऊपरी स्किन में जलन या इंफ्लामेसन की स्थिति निर्मित हो जाती है।इस कंडीसनको seborrheic dermatitis कहा जाता है। यह सर्दियों के मौसम में ज्यादा परेशान करती है क्योंकि उस वक्त हमारे सिर की त्वचा सुखी हो जाती है। डेंड्रफ या रूसी की समस्या आमतौर पर पुरुषों में ज्यादा देखी जाती है। सामान्यतः यह हमारे स्कैल्प में बैक्टीरिया और फंगस की वजह से होते है जिनके सिर की त्वचा सुखी होती है उनमें यह समस्या ज्यादा पाई जाती है।

डैन्ड्रफ क्यों होता है और डैन्ड्रफ क्या है ?

Hair fall and dandruff solution in hindi 

इस पोस्ट में सबसे पहले हम देखते है कि आखिर हमारे सिर में डैन्ड्रफ क्यों हो जाती है जबकि हम रोजाना अपने बालों को शैम्पू से धोते है।असल मे बात यह है कि डेंड्रफ की समस्या कई बार जेनेटिक भी होती है और कई बार इसके लिए हमारे आसपास का वातावरण भी जिम्मेदार होता है।

जेनेटिक्स आधार पर डेंड्रफ के निम्न कारण हो सकते है :-

1.स्किन का बहुत ज्यादा ऑयली होना अर्थात हमारे स्किन में सिबेशियस ग्रन्थि का स्त्रावण आवश्यकता से ज्यादा होना।

2.हमारे स्किन के अंदर मौजूद माइक्रो ऑर्गनिस्म का मेटाबॉलिक प्रोसेस

3. व्यक्ति विशेष में होने वाली किसी प्रकार की एलर्जी या सेंसेटिविटी

2016 में आई एक रिपोर्ट के अनुसार, बैक्टिरियल डेंड्रफ के प्रमुख कारक बैक्टिरिया के नाम – प्रोपिओनीबैक्टीरियम और स्टेफायलोकॉकस है। यह बैक्टिरिया पानी के द्वारा हमारे सिर की त्वचा तक पहुंचते है और पानी और हमारे स्कैल्प के सीबम (सिबेशियस ग्रंथि द्वारा स्त्रावित ऑइल) के कारण तेजी से इंफेक्शन फैलाते है। डेंड्रफ हमारे बालो केस्कैल्प, ऑयब्रो, मुंह और दाढ़ी के स्किन में पाए जाते है। स्कैल्प की प्रकृति के आधार पर डेंड्रफ को दो भागों में विभाजित किया गया है।

1. ड्राई डेंड्रफ :- जिनके स्कैल्प ड्राई होते है उन्हें ड्राई डेंड्रफ की समस्या होती है। जिसमे डेंड्रफ हर जगह दिखाई देते हैं जैसे – सिर पर,सोल्डर पर,कपड़ो में इत्यादि। सर्दी के मौसम में यह समस्या और भी गंभीर रूप धारण कर लेती है।

2. ऑयली डेंड्रफ :- जिन लोगो के सिर के त्वचा ऑयली होते है उनके बालो में ऑयली डैन्ड्रफ पाए जाते है। यह बालों से इतने अधिक चिपके होते है कि आसानी से दिखाई नही देते। गहरे रंग के कपड़े पहनने पर डैन्ड्रफ ज्यादा दिखाई देते है।

कभी कभी किसी हेयर प्रोडक्ट के साइड इफ़ेक्ट के कारण भी डैन्ड्रफ की समस्या उत्पन्न हो जाती है क्योंकि कुछ लोगो की त्वचा संवेदनशील होती है और ऐसी त्वचा में इन प्रोडक्ट से साइड इफेक्ट होने का खतरा बना रहता है।

बालों से हमारा पूरा लुक प्रभावित होता है। इसलिये इसपर सबसे ज़्यादा ध्यान देने की ज़रूरत होती है। खूबसूरत और सिल्की बाल हमारी पर्सनालिटी को निखारते हैं। इसी के साथ यदि हमारे बालों में डैन्ड्रफ आ जाये तो यह हमारे पर्सनालिटी के साथ साथ हमारे आत्मविश्वास को भी कमजोर करते है। डैन्ड्रफ को खत्म करने के कई सारे देशी उपाय भी है जिन्हें आजमा कर हम डैन्ड्रफ को जड़ से खत्म कर सकते है।

डैन्ड्रफ को जड़ से खत्म करने का घरेलू नुस्खा home remedies for dandruff and hair falls 

• ज़ैतून का तेल एक बहुत अच्छा मॉइस्चराइजर है, जो कि डेंड्रफ दूर करने के लिए प्रयोग में लाया जाता है। ज़ैतून के तेल को गर्म करके रात को सोते समय बालों में अच्छी तरह मालिश कर लें। और सुबह बालों को शैम्पू से धो लें।

• नीम का पेड़ बहुत गुणकारी होता है, इसकी पत्तियां, तना, छाल इत्यादि सभी में कोई न कोई गुण होता ही है। इसकी पत्तियों में एंटीबायोटिक, एंटीसेप्टिक और एंटीफंगल गुण पाये जाते हैं, इसका प्रयोग न केवल बालों के स्कैल्प बल्कि बालों से संबंधित विभिन्नप्रकार की समस्याओं के निवारण के लिए किया जाता है। नीम की पत्तियों को आधा घंटे तक उबालकर इसका पेस्ट तैयार करें फिर इस पेस्ट को बालोंकी स्कैल्प में लगा लें, अब इस पेस्ट को आधा घंटा बालों में रहने दें, फिर बाल धो लें। ये डेंड्रफ का अच्छा उपाय है।

• सेब का सिरका डेंड्रफ का एक प्राकृतिक उपचार है। यह त्वचा के ph लेवल को संतुलित बनाये रखता है, जो कि स्कैल्प में होने वाले फंगस को बढ़ने से रोकता है तथा डैन्ड्रफ का सफ़ाया करता है।

• हमारे किचन में मौजूद बेकिंग सोडा के द्वारा भी हम डेंड्रफ से छुटकारा पा सकते हैं। इसके एंटीफंगल गुण के कारण ये डेड स्किन सेल को हटाने का काम करता है। जिससे स्कैल्प में होने वाली खुजली खत्म होती है। बेकिंग सोडा को गीले बालों में मसाज करें और 2-3 मिनट के बाद शैम्पू कर लें।

• ओमेगा 3 फैटी एसिड एसिड जिसे omega 3 ऑइल भी कहा जाता है, इसका इस्तेमाल भी डैंड्रफ दूरकरने के लिएकियाजाताहै। ये सिर के सूखेपन को दूर करता है तथा सिर की त्वचा को हाइड्रेट करता है।

• डेंड्रफ होने के पीछे की एक वजह तनाव भी हो सकता है, यो सबसे पहले तो आप तनाव से दूर रहें। क्योंकि यह हमारे शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को कम करता है, जिससे हमारा शरीर फंगल इंफेक्शन से लड़ने में अक्षम हो जाताहै। तनाव कम करने के लिए आप मेडिटेशन, योगा, अरोमाथेरेपी इत्यादि का प्रयोग कर सकते हैं।

• एलोवीरा सिर्फ कॉस्मेटिक के लिए ही उपयोग नही किया जाता बल्कि इसका उपयोग और भी कई समस्याओं के लिए किया जाता है। एलोविरा में एंटीबैक्टीरियल और एन्टी फंगल गुण पाए जाते हैं जो कि डैन्ड्रफ से हमारे बालों की सुरक्षा करते है।

• नारियल तेल जो कि हर घर में पाया जाता है डैन्ड्रफ दूर करने के लिए एक बेहतरीन उपाय है। यह न केवल शरीर की त्वचा के रूखेपन को दूर करता है अपितु बालो के स्कैल्प के रूखेपन को भी दूर करता है जो कि डैन्ड्रफ का कारण होते है। यह स्कैल्प को हाइड्रेट्स रखता है। हमारे सिर में डैन्ड्रफ होने की वजह चाहे स्कैल्प का रूखापन हो या फिर फंगल इंफेक्शन की वजह से हो नारियल तेल दोनों में ही काम आता है।

• सिर में होने वाले ड्राई डैन्ड्रफ को दूर करने के लिए सबसे बेहतरीन उपाय तेल से मालिश करना हित हैं।नारियल तेल या जैतून के तेल में थोड़ा कपूर मिलाये और इसे आधा मिनट तक गर्म करें। अब इसे बालों में अच्छी तरह से स्कैल्प की गहराई तक लगाएं और एक घण्टे बाद बालों को अच्छी तरह से धो लें।

Hairfall solution in hindi :-

बाल हमारे शरीर का एक ऐसा हिस्सा है, जो कि बेहद महत्वपूर्ण होता है। अब आगे बढ़ते है हम हमारे “Hairfall and dandruff solution in hindi” के इस पोस्ट के अगले पहलू पर जो कि बालों के झड़ने से जुड़ा हुआ है। जिससे लगभग हर कोईपरेशान रहता है। यह एक ऐसी समस्या है जिसे लोग बहुत हल्के में ले लेते है लेकिन इस प्रकार शुरू से ही ध्यान दिया जाए तो इसे समाप्त किया जा सकता है। हेयर लोस की समस्या कभी कभी इतनी बढ़ जाती है कि यह बाल्डनेस baldness तक बढ़ जाती है। baldness meaning in hindi – टकलापन।

बाल झड़ने से बचाने का घरेलू नुस्खा home remedy for dandruff and hair fall in hindi :-

• नारियल तेल लगभग हर एक घर में पाया जाता है, और ये हेयर फॉल रोकने का सबसे सस्ता और आसान उपाय है। नारियल तेल में पाये जाने वाले विटामिन और मिनरल न केवल हमारे बालों का पालन पोषण करते हैं , बल्कि ये हमारे बालों को मज़बूत और घना भी बनाते हैं। 

• जोजोबा ऑइल का प्रयोग हेयर फॉल रोकने के लिए किया जाता है। इसमें प्राकृतिक तौर पर ऐसे गुण होते हैं, जो कि बालों को मॉइस्चराइज करते है। इसके इस्तेमाल से न सिर्फ बालों का झड़ना कम होता है बल्कि ये नए बाल भी जल्दी उगाने का काम करता है। जोजोबा ऑइल को गर्म करके इसे बालों की जड़ो में लगाएं और आधे घंटे बाद शैम्पू कर लें। इससे बाल हेल्दी और मज़बूत होते हैं।

• प्याज़ के रस का उपयोग हेयर फॉल रोकने के लिए किया जाता है। प्याज़ में प्राकृतिक रूप से एंटीबैक्टीरियल गुण पाया जाता है, जो कि स्कैल्प में होने वाले इंफेक्शन को दूर करके बालों का झड़ना कम करता है। प्याज़ में पाये जाने वाले सल्फर की वजह से ये ब्लड सर्कुलेशन को बढ़ाता है, जिससे बाल मज़बूत होते हैं।

• sunflower ऑइल यानि कुसुम के फूलों का तेल, इसका प्रयोग भी बालों के बढ़ने के लिए किया जाता है,यह डेंड्रफ को भी दूर करता है और इसका मसाज बालों को लंबा और चमकदार बनाता है।

• मेथी के दानों से भी हेयर फॉल को कंट्रोल किया जाता है। इसमें विटामिन B1,B3, B5 इत्यादि पाये जाते हैं, जो कि बालों को हेल्दी बनाते हैं। साथ ही साथ ये बालों को घना और चमकदार करने में सहायक होते हैं।

• हेयर फॉल रोकने के लिए अंडे का प्रयोग भी बहुत लाभदायक होता है। अंडे में भरपूर प्रोटीन होता है, जो कि नए बाल उगाने में सहायक होता है। किसी बाउल में एक अंडे और 1 टेबल स्पून ज़ैतून का तेल मिलाएं । इसे शैम्पू किये हुए बालों में लगा लें अब शॉवर कैप से बालों को कवर कर लें, जब ये मिश्रण अच्छी तरह बालों में सेट हो जाए तो 15-20 मिनट के बाद बालों को धोकर कंडीशनर लगा लें।

• नीम का तेल , जो कि एंटीऑक्सीडेंट, विटामिन E और फैटी एसिड से भरपूर होता है यह बालों के लिए एक बेहतरीन औषधि है। यह डैन्ड्रफ अथवा किसी भी प्रकार के फंगल इंफेक्शन को होने से रोकता है तथा बालों की ग्रोथ बढ़ाता है। 2 टेबल स्पून नीम का तेल और 2 टेबल स्पून नारियल या बादाम का तेल लेकर पहले इसे अच्छी तरह मिला लें फिर किसी बर्तन में हल्का गर्म करें। अब इस मिले हुए तेल को बालों और इसकी जड़ो में लगा लें।

• बालों के झड़ने की पीछे की वजह ज़रूरी नहीं है कि हमेशा कोई बीमारी या डेंड्रफ या किसी क़िस्म का इंफेक्शन ही हो, कई बार ऐसा भी होता है कि तनाव की वजह से बालझड़ रहे हों। तो इस स्थिति में किसी भी प्रकार का उपाय करने के बदले बेहतर है कि आप अपने तनाव को दूर करें, क्योंकि तनाव से न केवल बाल झड़ने की समस्या होती है बल्कि यह और भी कई बीमारियों को न्योता देता है।

• अगर आपके बाल लंबे हैं, तो बहुत टाइट चोटी न करें इससे भी बाल गिरते हैं।

• जब बाल गीले हों , तब कंघी न करें। बालों के सूख जाने के बाद ही कंघी करें। गीले बालों में कंघी करने से भी हेयर फॉल की समस्या होती है।

• बालों को हमेशा अच्छे शैम्पू से ही धोयें, बालों की सफ़ाई पर ध्यान दें क्योंकि गंदे बालों में कई प्रकार के इंफेक्शन इत्यादि हो सकते हैं, जो कि आगे चलकर न सिर्फ हेयर फॉल बल्कि बालों से संबंधित किसी दूसरी समस्या का कारण बन सकते हैं।

यह भी पढ़े :-

मेमोरी लॉस में फायदेमंद हैं काली मिर्च

यह भी पढें :-

Mulethi side effect hindi मुलेठी के फायदे

हेयर फॉल के लिए ऊपर बहुत से घरेलू उपाय बताये गये हैं, यदि आपको हेयर फॉल की समस्या है, तो इनमें से जो भी उपाय आपको पसंद आये उसे आप प्रयोग करके फायदा उठा सकते हैं। “Hair fall and dandruff solution in hindi ” के ये सारे उपाय हो सकते है कि आपको ज़्यादा समय लेने वाले लगें ,किन्तु इनका कोई साइड इफ़ेक्ट नहीं होता। यदि आप डैन्ड्रफ या हेयर फॉल की समस्या के लिए कोई केमिकल ट्रीटमेंट इत्यादि लेते हैं, तो इनके साइड इफ़ेक्ट हो सकते हैं। और दूसरी बात ये ट्रीटमेंट काफी महंगे भी होते हैं जबकि घरेलू उपाय बहुत सस्ते होते हैं, इसमें उपयोग होने वाली ज़्यादातर सामग्रियां घर में ही उपलब्ध होती हैं। इसलिए पहले घरेलू उपाय अपना के देखें यदि उनसे समस्या दूर ना हो तभी कोई केमिकल ट्रीटमेंट लें। इन सबसे ज़्यादा ज़रूरी एक बात है, तनावमुक्त रहें, स्वस्थ रहें ताकि आप भी कह सके Bye Bye Bimari

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button