Healthy food vs junk food chart जानिए क्यो जंक फूड्स आपके लिए खतरनाक है

Healthy food vs junk food

Healthy food vs junk food chart

1.Introduction :- पिछले कुछ वर्षों से लोगो की दिनचर्या में घर का खाना कम और जंक फूड्स का चलन काफी आम हो चुका है। यदि जंक फूड का इस्तेमाल कभी कभार किया जाए सिर्फ टेस्ट के लिए तो स्वास्थ्य पर इसका कोई खास दुष्प्रभाव नही पड़ता किंतु आजकल बच्चों से लेकर बड़े तक जंक फूड्स को स्टेटस सिंबल मानने लगे है। जिसका पूरा असर उनके स्वास्थ्य पर पड़ रहा है। इसी जंक फूड की वजह से आजकल छोटे छोटे बच्चों में भी मोटापा, आंखों की कमजोरी, याददाश्त में कमी आने जैसी विभिन्न प्रकार की समस्याएं जन्म लेने लगी है। इसकी वजह यह है कि आजकल सामान्यतः एकल परिवार होते है और उसमे भी माता पिता ज्यादातर कामकाजी होते है। उनके पास इतना समय नही होता कि वे बच्चों को घर मे बना हुआ खाना दे सकें ऐसे में वे बाजार से बने हुए तले भुने खाने के सामान ले आते है जिनके स्वास्थ्यगत लाभ कम लेकिन नुकसान ज्यादा रहते हैं।byebye bimari के आज के इस पोस्ट के हम बात करने वाले है इन्ही जंक फूड्स से जानकारी पर Healthy food vs junk food chart अब बात करते है कि आखिर ये जंक फूड्स क्या है

2.what is Junk food जंक फूड क्या है

बाजार में मिलने वाले तले हुए ऐसे खाद्य पदार्थ जिन्हें प्रोसेस्ड करके पकाया जाता है। इनमे आम तौर पर मैदा का प्रयोग किया जाता है। सैंडविच, बर्गर, पिज्जा, चिप्स, इसके अलावा अन्य कोल्डड्रिंक पदार्थ भी इसी श्रेणी में आते है। पोषक तत्वों की उपलब्धता के बारे में बात करे तो इन जंक फूड्स में किसी भी तरह के पोषक तत्व नही होते बल्कि ये हमे अन्य दूसरे बीमारियों के करीब ले जा सकते है।

junk food
junk food

3.Junk food effect on your Health जंक फूड का दुष्प्रभाव

जंक फूड का ज्यादा लंबे समय तक सेवन करना हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत अधिक नुकसानदेह साबित हो सकता है। कई बार सामान्य बीमारी की शिकायत से लेकर इसमे कई गंभीर बीमारियों का भी सामना करना पड़ सकता है। ऐसे में इन कुछ बीमारियों के बारे में जानना बेहद महत्वपूर्ण हो जाता है जिनका हमे इन जंक फूड के सेवन करने से सामना करना ओढ़ सकता है।
डायबिटीज :- जंक फूड्स के इस्तेमाल से सबसे ज्यादा होने वाली समस्या डायबिटीज की ही है। पहले डायबिटीज केवल बड़े बुजुर्गों में ही होती थी किंतु आजकल गलत खानपान की वजह से छोटे बच्चे भी इस गम्भीर समस्या का शिकार बनते जा रहे है। जंक फूड्स में सोडियम, वसा, शुगर, का सम्मिश्रण होता है जिसकी वजह से यह खाने में स्वादिष्ट तो जरूर लगता है किंतु सेहत के लिए उतना ही नुकसानदायक साबित होता है।
हार्ट डिजीज :- जंक फूड में पाए जाने वाले सोडियम, शुगर, हार्ट डिजीज को बढ़ावा देते है। हार्ट डिजीज कई प्रकार के हो सकते हैं। जंक फूड्स में जिस तेल का इस्तेमाल किया जाता है वह भी घटिया किस्म का होता है। जिसकी वजह से पेट दर्द,बदहजमी, सीने में बेचैनी होना, जी मचलाना जैसी समस्याएं सामने आती है। जंक फूड्स के लगातार सेवन से शरीर का कोलेस्ट्रॉल लेवल असंतुलित हो जाता है जिसकी वजह से दिल से सम्बंधित विभिन्न प्रकार के विचार जन्म लेते है। व्यक्ति का ब्लड प्रेशर हाई हो जाना, धड़कन तेज या अनियंत्रित होकर चलना, हार्ट फेल्योर होना एवं हार्ट अटैक जैसी समस्याएं हो जाती है।

heart attack
junk food cause heart attack


हाई ब्लड प्रेशर :- हाई ब्लड प्रेशर जिसे हाइपर टेंसन के नाम से भी जाना जाता है इसमे धमनियों में रक्त का दबाव बढ़ जाता है। जंक फूड के ज्यादा सेवन उसमे मौजूद वसा के कारण रक्त वाहिकाओं में कोलेस्ट्रॉल जमने लगता है जिससे रक्त वाहिकाओं पर अतिरिक्त दबाव बनने लगता है। यह स्थिति अगर यूँही बनी रही तो यह आगे चलकर हाई ब्लड प्रेशर और हार्ट अटैक जैसी गंभीर परिणाम अपने साथ लेकर आती है।

पाचन में समस्या :- जंक फूड सस्ता, आसानी से उपलब्ध होने वाले एवं स्वादिष्ट होता है जिसकी वजह से हम यह जानते हुए भी की यह हमारी सेहत के लिए हानिकारक है फिर भी न सिर्फ न खुद कहा रहे है बल्कि अपने बच्चे को भी दे रहे हैं। जंक फूड्स में कार्बोहाइड्रेट की मात्रा अधिक होती है, इसमे पाये जाने वाले शुगर की वजह से शरीर का ग्लूकोज लेवल को प्रभावित करता है जिसके कारण इंसुलिन की मात्रा बाहरी स्त्रोत से लेनी पड़ती है। जंक फूड्स में मौजूद खराब कार्बोहाइड्रेट और फाइबर के कारण हमारा डाईजेस्टिव सिस्टम प्रभावित है। इसके वजह से हमे कब्ज, पेट में दर्द, डायरिया, पेट मरोड़ने जैसी समस्या का सामना करना पड़ जाता हैं।

वजन बढ़ने की समस्या :- अधिकांश जंक फूड फैट, शुगर, और कार्बोहाइड्रेट की अधिक से अधिक मात्रा को संचित किये होते है। साथ ही इनमे किसी भी तरह के विटामिन और मिनरल लगभग नही होते है। जंक फूड्स हाई कैलोरी का स्रोत होते है जिनके कारण वजन लगातार बढ़ने लगता है जो बाद में मोटापा में बदल जाता है। वर्तमान समय मे अधिकांश लोगों में प्रायः सुबह और शाम के समय नाश्ते में जंक फूड का प्रचलन बढ़ गया है। यही कारण है कि आज के दौर में भारत मे ओवरवेट या मोटापा एक आम समस्या बन चुकी है।

4.Try to eat Healthy food

जंक फूड्स के नुकसान के बारे में जानने के बाद अब यदि आप सोच रहे है कि किस तरह का हमे खानपान करना होगा,तो हम आपके लिए एक ऐसी लिस्ट नीचे तैयार रखे रखे है जिन्हें आप पढ़कर इन फूड्स में मौजूद नुएट्रिएंट्स, विटामिन, और मिनरल को जान पाएंगे। इन फूड्स के लगातार सेवन से आपको स्वास्थ्यगत किसी तरह के कोई परेशानी का सामना नही करना पड़ता। चलिए देखते है की ऐसे कौन कौन से फूड्स है जो हेल्दी फूड्स के लिस्ट में आते है-
● बादाम – विटामिन E, मैग्नीशियम, फाइबर, एन्टी ओक्सिडेंट
● चीया सीड्स – मैग्नीशियम, कैल्सियम, मैग्नीज, फाइबर
● नारियल – विटामिन A, D, C, B-6, पोटैशियम, मैग्नीशियम कैल्शियम,
● अखरोट – विटामिन C, D, B-6, कैल्शियम, आयरन, मैग्नीशियम, पोटैशियम,
● ब्रोकली – विटामिन A, B6, B12, D, E, K कैल्शियम, आयरन, पोटैशियम, फास्फोरस, जिंक
● फूलगोभी – विटामिन C, B-6, पोटैशियम, मैग्नीशियम, कैल्शियम, आयरन
● गाजर – विटामिन A,C,K, कैल्शियम, पोटैशियम
● खीरा – विटामिन A,C, कैल्शियम, आयरन
● टमाटर – विटामिन A,C, B-6,कैल्शियम, आयरन,पोटैशियम, मैग्नीशियम
● प्याज – विटामिन C, B-6, कैल्शियम, आयरन,पोटैशियम, मैग्नीशियम
● ब्राउन राइस – विटामिन B-6, पोटैशियम, मैग्नीशियम, कैल्शियम, आयरन
● ओट्स – कैल्शियम, आयरन,पोटैशियम, मैग्नीशियम, जिंक, फॉस्फोरस, कॉपर, मैग्नीज
● सेब – विटामिन A,C, पोटैशियम, मैग्नीशियम
● केला – विटामिन A,C,B-6, आयरन,पोटैशियम, मैग्नीशियम
● संतरा – विटामिन A,C,B-6, कैल्शियम,पोटैशियम, मैग्नीशियम
● स्ट्रॉबेरी – विटामिन C, कैल्शियम, आयरन, पोटैशियम, मैग्नीशियम
● अंडे – विटामिन A,D,B-6, कोबालएमीन, कैल्शियम, आयरन, मैग्नीशियम, पोटैशियम
● चिकन ब्रेस्ट – विटामिन B, D, कैल्शियम, आयरन,जिंक
● मीट -विटामिन A, B, आयरन,जिंक ,सेलेनियम, फॉस्फोरस

healthy foods
healthy foods

5.Healthy foods effect on your Health :-

इन हैल्दी फूड्स के बारे में जानने के बाद अब बात करते हैं जिनके सेवन से होने वाले फायदे के बारे में।बेशक इन फूड्स को लेने से हमारे स्वास्थ्य पर सकारात्मक असर पड़ता है। इनके कारण हम समय समय पर होने वाली बीमारियों से भी खुद को सुरक्षित रख पाते है और हमारा शरीर तरह तरह के दवाइयों से भी बाख जाता है। इन हेल्दी फूड्स का हमारे स्वास्थ्य पर क्या असर पड़ता है देखते है निम्न बिंदुओं में –

● keep your heart safe :-

पूरे विश्व में बहुत से लोग दिल की विभिन्न बीमारियों से जूझ रहे है। यह सब व्यक्ति के गलत खानपान का परिणाम ही होता है इसके लिए सबसे पहले तो शारीरिक रूप से सक्रिय एवं हैल्दी फ़ूड लेने की जरूरत होती है। विटामिन E से भरपूर आहार लेने पर यह रक्त को जमने से रोकता है जिसके कारण हृदयाघात की संभावना कम होती जाती है।

heart
heart hurts

●दाँतो और हड्डियों के लिए फायदेमंद

कैल्सियम और मैग्नीशियम से भरपूर भोजन करना हमारे दाँतो और हड्डियों को मजबूत बनाता है। इन तत्वों के स्रोत वाले फूड्स लेने पर यह हमारे शरीर के हड्डियों में होने वाले रोग जैसे ओस्टियोपोरोसिस और ऑस्टियोऑर्थराइटिस जैसी गंभीर बीमारी से सुरक्षित रखते है।

healthy vs junk food
healthy foods vs junk foods


● दिमाग तेज करने में सहायक

ऐसे नुएट्रिएंट्स जिनमे ओमेगा 3 फैटी एसिड, विटामिन सी, डी, एवं विटामिन ई पाये जाते हैं, इनका सेवन करने से याददाश्त क्षमता में वृद्धि होती है तथा भूलने की बीमारी और शार्ट टर्म या लॉन्ग टर्म मेमोरी लॉस जैसी समस्या का भी इलाज संभव होता है।

● वजन कम करने में सहायक

आज के समय में मोटापा न केवल समस्या है बल्कि एक गंभीर बीमारी भी बनती जा रही है क्योंकि मोटापे की वजह से और भी कई प्रकार की बीमारियाँ जन्म लेती है जैसे हार्ट डिजीज, डायबिटीज, शुगर, हड्डियों की कमजोरी इत्यादि। हैल्दी फूड्स में प्रोसेस्ड फूड्स की तुलना में कैलोरी कम होती है जो कि वजन को नियंत्रित रखती है। इन्हें लेने पर शरीर को पोषक तत्व भी मिलते है और पेट भी लम्बे समय तक भरा रहता है।

●डायबिटीज से सुरक्षा

हेल्दी फूड लेने से डायबिटीज भी कंट्रोल में रहता है। क्योंकि डायबिटीज होने की वजह बढ़ता मोटापा, ब्लड प्रेशर आदि होते हैं। हेल्दी फूड में शक्कर एवं नमक दोनों ही बराबर मात्रा में होते हैं। जिससे शरीर का वज़न , ब्लड ग्लूकोज का लेवल नियंत्रित रहता है तथा ये ब्लड प्रेशर व कोलेस्ट्रॉल को भी संयमित रखने में सहायक होता है।

sugar test
test sugar


●पाचन क्रिया में सहायक- 

हेल्दी फूड में पाये जाने वाले विटामिन एवं मिनरल शरीर के मेटाबोलिज्म को नियंत्रित रखते हैं, जिसकी वजह से पाचन क्रिया दुरुस्त रहती है। जबकि जंक एवं प्रोसेस्ड फूड के सेवन से पेट दर्द, जलन , कब्ज़ जैसी समस्याएं जन्म लेती हैं।
●अच्छी नींद में सहायक – शरीर में होने वाली कई बीमारियों की जड़ नींद का न आना भी होता है, जो कि आगे चलकर और भी बड़ी समस्या का रूप धारण कर लेती है। जंक फूड, सॉफ्ट ड्रिंक, अल्कोहल इत्यादि के लगातार सेवन से नींद न आने की समस्या हो जाती है। इसके विपरीत हैल्दी फूड्स लेने से व्यक्ति को अच्छी नींद आती है।

6.conclusion :- इस तरह इस पोस्ट में हमने healthy food और junk food के बारे में विस्तार से आपको बताने का प्रयास किया। इन फूड्स को खाने से स्वास्थ्य किस तरह से प्रभावित होता है यह भी हमने आपको बताने का प्रयास किया। उम्मीद करते है कि Healthy food vs Junk food chart का यह पोस्ट आपको पसंद आया होगा।

यह भी पढ़े: sendha namak khane ke fayde bataen in hindi

यह भी पढ़े:ESR test kya hota hai | ESR test means in hindi | ESR test high means in hindi

यह भी पढ़े:चीया सीड्स क्यों चर्चा में है,जानिए। Chia seeds in hindi meaning

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button