Home Remedies for Sinus in Hindi

Sinus एक स्वास्थ्य समस्या है जिसे पूरी तरह से ठीक नहीं किया जा सकता है। हालांकि कुछ घरेलू नुस्खों (Home remedies for Sinus in Hindi की मदद से इसके लक्षणों से राहत जरूर पायी जा सकती है। तो आइए जानते है How to Get Rid of Sinus Problem

How to get rid of Sinus: साइनस नाक से जुड़ी एक परेशानी है। साइनस (Sinus) को मेडिकल भाषा में साइनोसाइटिस (sinusitis) कहा जाता है। Sinus बीमारी के लक्षण कोरोना काल में जारी खांसी-जुखाम के जैसे होते है इसलिए लोगों में भय भी पैदा हो जाता है। लेकिन Sinus के लक्षण में थोड़ा फर्क होता है जिसे जानकार आप उसका घरेलू उपचार (Home Remedies for Sinus in Hindi) भी कर सकते है। तो आइए इस पोस्ट में जानते है कि Sinus kya hai? (What is Sinus in Hindi) और साइनस से छुटकारा कैसे पाएं? (How to get rid of Sinus)

Sinus kya hai? | What is Sinusitis in Hindi

Sinus रोग में नाक के अन्दर की हड्डी बढ़ जाती है या तिरछी हो जाती है जिसके कारण सांस (Breath) लेने में रुकावट आती है। ऐसे मरीज को जब भी ठण्डी हवा या धूल, धुआँ उस हड्डी पर टकराता है तो व्यक्ति परेशान हो जाता है। Sinus में नाक तो जाम हो ही जाता है, साथ ही नाक में कफ आदि का बहाव अधिक मात्रा में होता है।

वास्तव में Sinus के संक्रमण होने पर Sinus की झिल्ली में सूजन आ जाती है। सूजन के कारण हवा की जगह Sinus में मवाद या बलगम आदि भर जाता है, जिससे Sinus बंद हो जाते हैं। इस वजह से माथे पर, गालों पर ऊपर के जबड़े में दर्द होने लगता है।

आमतौर पर साइनस 4 प्रकार का होता है, इस बैक्टीरियल इंफेक्शन में लोगों को कई तरह की स्वास्थ्य दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। आइए जानते हैं विस्तार से –

Types of Sinus in Hindi | साइनस के प्रकार

  1. Acute sinusitis         – इस प्रकार में लक्षण अचानक शुरू होकर दो से चार हफ्तों तक तकलीफ रहती है।
  2. Sub Acute sinusitis– इस प्रकार में साइनस में सूजन चार से बारह हफ्तों तक रहती है।
  3. Chronic sinusitis– इस प्रकार में लक्षण बारह हफ्तों से अधिक समय तक रहता है।
  1. Recurrent sinusitis– इस प्रकार में रोगी को सालभर बार-बार साइनोसाइटिस की समस्या होती रहती है।

Symptoms of Sinus in Hindi | साइनस के मुख्य लक्षण

Sinus Symptoms: साइनोसाइटिस के लक्षण (Symptoms) सामान्य सर्दी-जुकाम के जैसे ही होते है इसलिए बहुत से लोग साइनोसाइटिस के लक्षण (Sinus Symtomps) को भी कॉमन कोल्ड समझ बैठते है। नीचे साइनस के मुख्य लक्षण बताए गए।

  1. बलगम
  2. फीवर
  3. बंद नाक
  4. गंध महसूस न कर पाना
  5. स्वाद का खराब होना
  6. बैड ब्रेथ
  7. सिर दर्द
  8. आंखों के नीचे सूजन
  9. नाक से गले तक कफ महसूस होना

Home remedies for Sinus in Hindi | साइनस के लिए घरेलू उपचार

Steam : नाक से ब्लॉकेज दूर करने में भाप लेने को बेहद कारगर माना गया है। डॉक्टर भी साइनस के मरीजों को स्टीम लेने की सलाह देते हैं। आप चाहें तो इसमें यूकैलिप्टस ऑयल की कुछ बूंदें भी गर्म पानी में डाल लें।

Soup: ताजे जड़ी-बूटियों के साथ चिकन सूप से लेकर सब्जी के सूप तक को चुन सकते हैं। यह स्वस्थ अवयवों के एक समूह के साथ आपको साइनस के लक्षणों से राहत दिलाने में मदद कर सकता है।

Apple Cider Vinegar : सेब साइडर सिरका कई स्वास्थ्य लाभ के साथ एक अद्भुत प्राकृतिक घटक है। एक कप गर्म पानी या चाय, दो या तीन बड़े चम्मच कच्चे, अनफिल्टर्ड एप्पल साइडर सिरका के साथ रोजाना तीन बार लेने से बलगम को बाहर निकालने और साइनस के दबाव को कम करने में मदद मिलती है।

Turmeric and Ginger Root: अदरक को औषधीय गुणों से भरपूर माना जाता है। अदरक में प्राकृतिक एंटी इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं। जब इसके साथ अदरक को मिलाकर गर्म चाय में पीसा जाता है तो यह कॉम्बिनेशन नाक से बलगम को साफ कर देता है।

Honey: शहद का इस्तेमाल भी साइनस की बीमारी के लिए कर सकते हैं। शहद क्रॉनिक राइनो साइनसाइटिस के कारक स्यूडोमोनस एरुगिनोसा और स्टैफिलोकोकस ऑरियस बैक्टीरिया को खत्म करने में मदद कर सकता है। इसी वजह से शहद को साइनस का घरेलू उपचार माना जाता है।

Garlic: साइनस के घरेलू नुस्खे में लहसुन भी शामिल है। इसमें एंटी-बैक्टीरियल गुण होते है, जो किटाणुओं को पनपने से रोक सकता है। कहा जाता है कि लहसुन साइनस में जमे अत्यधिक म्यूकस को निकालने में मदद कर सकता है।

Some more remedies to get rid of sinus

  • उन खाद्य पदार्थ का सेवन करें, जो इम्यूनिटी को बढ़ाते हैं और बैक्टीरिया से लड़ने की क्षमता देते हैं।
  • हाथों को अच्छे से धोएं, खासकर किसी से हाथ मिलाने के बाद।
  • पर्याप्त मात्रा में पानी पीने से साइनस के लक्षण से बचाव किया जा सकता है।
  • धूल-मिट्टी से खुद को बचाए रखें। डस्ट एलर्जी भी साइनस की वजह बन सकती है।
  • स्ट्रेस से भी दूर रहने से साइनस के लक्षण से बचा जा सकता है।
  • गुनगुने फेशियल पैक का इस्तेमाल, जिससे म्यूकस की वजह से नाक में हुई ब्लॉकेज कुछ कम हो सकती है।

अगर आप इस आर्टिकल (Home remedies for Sinus in Hindi) को वीडियो के माध्यम से समझना चाहते है तो नीचे दिए गए वीडियो को पूरा अंत तक जरूर देखें।

Leave a Comment