MCH blood test in hindi | Mch full form hindi – Mch Hindi Byebyebimari

MCH Blood Test

This article is about Mch Blood test in hindi and Mch full form in hindi.

MCH full Form in English

MCH is short for “mean corpuscular hemoglobin.” It’s the average amount in each of your red blood cells of a protein called hemoglobin, which carries oxygen around your body. It’s possible you’ll learn about MCH when you get a blood test called a CBC (complete blood count).

What is MCH full Form in hindi?

” मीन कॉर्पस्कुलर हीमोग्लोबिन” के लिए संक्षिप्त है। यह आपके प्रत्येक लाल रक्त कोशिकाओं में हीमोग्लोबिन नामक प्रोटीन की औसत मात्रा है, जो आपके शरीर के चारों ओर ऑक्सीजन ले जाती है। यह संभव है कि जब आप सीबीसी (पूर्ण रक्त गणना) नामक रक्त परीक्षण करवाएं तो आप एमसीएच के बारे में जानेंगे।

MCH का फुल फॉर्म Mean Carpuscular Hemoglobin होता है. यह CBC profile का एक test है, जो CBC test के साथ ही किया जाता है.इसे Calculative test भी कहा जाता है, क्योंकि इसे calculate करके आसानी से निकाला जा सकता है. 

MCH blood test in hindi

MCH is short for “mean corpuscular hemoglobin“.

MCH blood test क्या है? (what is MCH blood test in Hindi)

MCH test एक calculative blood test होता है.जो CBC profile का एक जाँच है और CBC test के साथ ही इसे calculate करके निकाला जाता है. 

इसे hemoglobin और RBCs की सहायता से calculate कर आसानी से निकाला जा सकता है. MCH blood test, एक लाल रक्त कोशिका में उपस्थित हीमोग्लोबिन की मात्रा को बताता है.जिससे एनिमिया का पता लगाया जाता है. 

MCH test का calculation करने के लिए, patient का hemoglobin और RBCs का value पता होना चाहिए. जिसे आप MCH के calculation formula से आसानी से निकाल लेंगे. 

MCH test calculation formula

MCH calculation = HB * 10 / RBCs count. 

इस formula की मदद से MCH का मान निकाला जा सकता है. 

Patient के hemoglobin को 10 से गुणा करके, उसे Total RBCs से भाग लगा दे. इस तरह आसानी से MCH का मान निकाल जाएगा. 

MCH blood test in Hindi में, आज आपने mch calculation करना सीख लिया होगा.

MCH कितनी होनी चाहिए? 

MCH का नार्मल रेंज 27-33 pg (pictogram) होता है.यदि हमारे शरीर में mch blood test की मात्रा कम या ज्यादा हो जाती है है तो हमें कई प्रकार की बीमारियां होने का खतरा रहता है. तो चलिए जानतें हैं कि mch के कम या ज्यादा होने से क्या होता है. 

MCH की कमी के कारण –

हमारे शरीर में mch level के कम होने के कई कारण हो सकते हैं जिनमें से कुछ कारण इस प्रकार है –

  1. Anemia के कारण, खून की कमी के कारण 
  2. आयरन, vitamin B-12 और फोलिक एसिड की कमी से, 
  3. Liver disease (जिगर की बीमारी के कारण) 
  4. पोषकतत्वों की कमी के कारण (nutritional deficiency)
  5. Irregular मासिक धर्म के कारण 

MCH की कमी के कारण –

हमारे शरीर में mch level के कम होने के कई कारण हो सकते हैं जिनमें से कुछ कारण इस प्रकार है –

  1. Anemia के कारण, खून की कमी के कारण 
  2. आयरन, vitamin B-12 और फोलिक एसिड की कमी से, 
  3. Liver disease (जिगर की बीमारी के कारण) 
  4. पोषकतत्वों की कमी के कारण (nutritional deficiency)
  5. Irregular मासिक धर्म के कारण 

आयरन की कमी से कैसे बचे? 

आयरन की कमी से बचने का सबसे अच्छा उपाय यही है कि आप आयरन और विटामिन से भरपूर भोजन करें.जैसे कि- 

  • सोयाबीन 
  • राजमा 
  • हरे मटर 
  • चिकन 
  • पालक 
  • शकरकंद और केले 

इन सभी चीजों में आयरन की मात्रा ज्यादा होती है और vitamin B-6 की मात्रा, शकरकंद, केले और पालक में होता है. इसलिए इन सभी चीजों का प्रयोग ज्यादा से ज्यादा करें ताकि आयरन की कमी को दूर किया जा सके.

Also Read: Cbc test kya hota hai – Cbc test in hindi सीबीसी टेस्ट क्या होता है?

How to avoid iron deficiency?

The best way to avoid iron deficiency is to eat food rich in iron and vitamins.

  • Soybean Beans
  • green peas
  • Chicken
  • spinach
  • Sweet Potatoes
  • Bananas

MCH बढ़ने से क्या होता है? 

यदि MCH, 33 pg (pictogram) से ज्यादा आ रही है तो इसका मतलब है कि आपका mch level बढ़ा हुआ है. MCH बढ़े होने के कई कारण हो सकते हैं. 

जैसे कि- liver disease, infection, thyroid, एस्ट्रोजेन की दवा लेने से और नियमित शराब पीने से भी mch level बढ़ता है. Mch level बढ़ने से कई लक्षण दिखाई देते हैं जैसे कि –

  1. अत्यधिक थकान
  2.  सिरदर्द 
  3. शरीर का पीला पर जाना (जौंडिस)
  4. सीने में दर्द 
  5. बुखार 

If MCH is coming more than 33 pg (pictogram) then it means that your mch level is increased. There can be many reasons for the increased MCH. For example, taking medicines for liver disease, infection, thyroid, estrogen and drinking alcohol regularly also increases the mch level. Many symptoms appear due to increasing Mch level such as –

  1. Excessive fatigue
  2. Headache
  3. yellowing of the body (jaundice)
  4. Chest pain
  5. Fever

What happens due to deficiency of MCH?

यदि MCH की मात्रा 27 pg (pictogram)  से कम हो तो इसका मतलब है कि आपका MCH level कम है. MCH के कमी होने के कई कारण हो सकते हैं.जैसे-आयरन की कमी से होने वाली एनीमिया, जिसे हम iron deficiency anemia कहतें हैं.

थैलेसीमिया -थैलेसीमिया एक प्रकार का अनुवांशिक रोग है जो हमारे शरीर में लाल रक्त कोशिका और हिमोग्लोबिन के के कम बनने के कारण होता है. यदि आपके शरीर में हीमोग्लोबिन की कमी है तो आपको यह लक्षण दिख सकते हैं.

If the amount of MCH is less than 27 pg (pictogram), it means that your MCH level is low. There can be many reasons for the deficiency of MCH. Such as iron deficiency anemia, which we call iron deficiency anemia.

Thalassemia – Thalassemia is a type of genetic disease which occurs due to less production of red blood cells and hemoglobin in our body. If there is a deficiency of hemoglobin in your body then you may see these symptoms.

  • लगातार थकान महसूस होना 
  • कमजोरी होना
  • चक्कर आना 
  • सिर दर्द करना 
  • त्वचा का पीला होना 

 इस तरह के लक्षण आपको दिखाई दे सकते हैं.यदि आपको MCH की कमी होने से बचना है, तो आप इसका इलाज कराए और आयरन की कमी को दूर करें करें और अपने भोजन में आयरन युक्त पदार्थ शामिल करें.तो चलिए जानतें हैं –

Final word :

आशा करता हूं दोस्तों, आपको आज का यह पोस्ट ” MCH blood test in Hindi ” से MCH के बारे में useful जानकारी मिली होगी.यदि आपको यह पोस्ट अच्छा लगा हो तो, अपना कमेंट जरूर करें साथ ही इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर जरूर करें धन्यवाद.

Hope friends, you must have got useful information about MCH from today’s post “MCH blood test in Hindi“. Thank you.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button